e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Sunday, 7 March 2021 - 11:54pm

Report by
Lok Kiran

भारतीय डाक विभाग (Indian Postal Department) को इस बात की उम्मीद है कि डाकघर बचत बैंक को दूसरे बैंक खातों के साथ अप्रैल तक जोड़ दिया जाएगा और 2021 में सभी सेवाओं के डिजिटलीकरण (Digitization) को बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा.

डाक विभाग के सचिव (Secretary of postal department) प्रदीप्ता कुमार बिसोई ने कहा कि डाक विभाग ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान जब रेल (Rail), सड़क (Raod) और हवाई यातायात (Air Traffic) बंद थे, जरूरी सामानों को पहुंचाने में मुस्तैदी के साथ काम किया. साथ ही, यह अपनी क्षमता बढ़ाने पर निरंतर काम कर रहा है, क्योंकि अब तक ट्रेनों का परिचालन पूरी क्षमता के अनुसार नहीं हुआ है.

उन्होंने कहा कि हम नए साल में सेवाओं के डिजिटलीकरण को बढ़ाने और घरों तक सेवाएं (Postal Services) पहुंचाने पर जोर देंगे. हमारी बैंकिंग और वित्तीय सेवाएं (Banking and financial services) पहले से डिजिटलीकृत हैं. हम डाक घर बचत बैंकों को भी अप्रैल तक अन्य बैंकों के खातों से सीधे जोड़ने की उम्मीद कर रहे हैं. डाक घर कोर बैंकिंग समाधान (CBS) प्रणाली दुनिया में सबसे बड़ी है. 23,483 डाक घर पहले से नेटवर्क से जुड़े हैं.

भारतीय डाक 50 करोड़ से अधिक डाक घर बचत बैंक (POSB) ग्राहकों को देश भर में 1.56 लाख डाकघरों के जरिये सेवाएं दे रहा हैं. बिसोई ने कहा कि सेवाओं के डिजिटलीकरण के अलावा हम लोगों को घरों तक सेवाएं पहुंचाने पर ध्यान दे रहे हैं. इस साल हमने 85 लाख लेन-देन के जरिये 900 करोड़ रुपये भेजे और 3 लाख पेंशनभोगियों का सत्यापन उनके घर जाकर किया गया.

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

अपनी राय दीजिये ,26 जनवरी में कागज के तिरंगे पर प्रतिबंध लगाना चाहिए ताकी उसका अपमान न हो ?

User login