e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Saturday, 15 May 2021 - 1:47am

Report by shabnam khan

नई दिल्ली | चाय का स्वाद बढ़ाने में इलायची और अदरक का खास रोल होता है। चायपत्ती को बैलेंस करने के लिए भी इलायची और अदरक का इस्तेमाल किया जाता है जिससे तेज चायपत्ती सेहत को नुकसान न पहुंचा सके। सर्दियों में अदरक वाली चाय का सबसे ज्यादा सेवन किया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि गर्मियों में अदरक की बजाय चाय में इलायची का सेवन करना चाहिए। आइए, जानते हैं चाय में इलायची डालने के क्या फायदे हैं-
ऐसे बनाएं इलायची वाली चाय
सबसे पहले मीडियम आंच में एक पैन में पानी उबालने के लिए रखें। एक उबाल आते ही इसमें अदरक और थोड़ी सी इलायची डालकर एक मिनट तक उबालें। तय समय के बाद इसमें चायपत्ती डालें। गहरा रंग आते ही दूध डालकर तेज आंच पर एक उबाल आने दें। एक उबाल आते ही बाकी की इलायची डालकर आंच धीमी कर चाय को पकाएं। लगभग 2-3 मिनट तक पकाने के बाद आंच बंद कर चाय कप में छान लें। तैयार है इलायची वाली चाय।
इलायची के पोषक तत्व
इलायची में पोटेशियम, मैग्नीशियम, विटामिन बी1, बी6 और विटामिन सी पाया जाता है, जो आपके अतिरिक्त वजन को घटाता है। वहीं इलायची में मौजूद फाइबर और कैल्शियम आपके वजन को नियंत्रित करता है।
फैट को जमने नहीं देता
पेट के आसपास जमा वसा सबसे जिद्दी होती है और यह किसी के भी व्यक्तित्व को भी खराब कर देती है। हरी इलायची इस जिद्दी फैट को जमा नहीं होने देती है। यह वसा कई हृदय संबंधी बीमारियों की जड़ भी होती है।
रीर से विषैले तत्व बाहर निकालती है
आयुर्वेद की मानें, तो हरी इलायची शरीर में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकालने में भी मदद करती है। यह तत्व शरीर के रक्त प्रवाह में व्यवधान पैदा कर सकते हैं और हमारी ऊर्जा का स्तर भी घटाते हैं। इलायची की चाय इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकती है।
ट फूलने से बचाती है
हरी इलायची अपच की समस्या से बचाती है, जिससे कभी-कभी पेट फूलने की समस्या भी हो सकती है। यही वजह है कि हरी इलायची को गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल विकारों की प्रचलित दवा कहा जाता है। अच्छा पाचन तंत्र वजन घटाने के लिए अहम है।
खराब कोलेस्ट्रॉल को घटाए
वसा घटाने के गुणों के कारण इलायची शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को घटाने का काम करती है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को भी घटाने में मदद करती है।

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

अपनी राय दीजिये ,26 जनवरी में कागज के तिरंगे पर प्रतिबंध लगाना चाहिए ताकी उसका अपमान न हो ?

User login