e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Tuesday, 1 December 2020 - 1:30am

Report by
Nadeem

रायपुर/21अक्टूबर 2020: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों के खेत खलिहान पर किसान विरोधी काला कानून की काली छाया पड़ने नहीं देगी।भाजपा 15 साल तक सत्ता में रही तब और आज भी किसान विरोधी है प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में नया कृषि कानून बनाने जा रही है।ऐसे में पूंजीपति समर्थक और किसान विरोधी भाजपा नेताओं के पेट मे दर्द हो रहा है।

रमन भाजपा 15 साल तक सत्ता में रही तब और आज भी किसान विरोधी ही है मोदी सरकार के द्वारा लाए गए तीन कृषि बिल छत्तीसगढ़ सहित देश भर के किसानों के लिए काला कानून है। भाजपा की नीति और नियत किसानों को पूंजीपतियों के गुलाम बनाने की है।भाजपा लाख कोशिश कर ले छत्तीसगढ़ के किसानों का बालबांका भी नही कर सकती।

भाजपा ये ना भूले जब मोदी सरकार ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार को किसानों के धान को 2500 रु प्रति क्विं की दर में खरीदने से रोका तब प्रदेश के किसान मजदूर व्यापारी गृहणियों बुद्धजीवी वर्ग ने 20 लाख पत्र प्रधानमंत्री को भेजकर विरोध किया था।आज भी मोदी सरकार तीन नए किसान विरोधी मजदूर विरोधी आम उपभोक्ता विरोधी काला कानून के खिलाफ प्रदेश के ढाई करोड़ जनता में आक्रोश है जनता मोदी सरकार से काला कानून वापस लेने की मांग कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा की भाजपा लाख अनैतिक तरीके अपना केंद्रीय शक्तियों का दुरुपयोग कर ले,संघीय व्यवस्थाओं को ध्वस्त करने को कोशिश कर ले फिर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में मजबूत एवं कल्याणकारी कानून बनायेगी।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार छत्तीसगढ़ के किसानों के खेत खलिहानों पर मोदी सरकार के तीन काला कानून की काली छाया पड़ने नही देगी।छत्तीसगढ़ में बनने वाले नए कृषि कानून का विरोध कर भाजपा नेताओं ने अपने किसान विरोधी मंसूबे को ही आगे बढ़ाने का काम किया है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि आखिर भाजपा क्यों नहीं चाहती कि देश भर के किसानों को एक राष्ट्र एक बाजार के साथ एक दर मिले? किसानों को उनके उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिले इसकी व्यवस्था नए बिल में क्यों नही किया गया?मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार संघीय व्यवस्थाओं के तहत राज्य के किसानों के लिए कानून बना रही है तो भाजपा नेताओं के पेट मे दर्द क्यों हो रहा है? क्या भाजपा के नेता उस संघीय व्यवस्थाओं को नही मानते जो राज्यो को राज्य के नागरिकों के लिए कानून बनाने का शक्ति प्रदान करती है?

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार के नए कृषि कानून से मात्र पूंजीपतियों को लाभ होगा पूंजी पतियों की तिजोरी और गोडाउन ही भरा रहेगा। खेतों में हल चलाने वाले किसान और उनका परिवार हमेशा मायूस और दुखी रहेंगे आर्थिक तंगहाली से जूझते रहेंगे। भाजपा के नेता चाहते किसान पूंजीपतियों के आगे हाथ फैलाये।पूंजीपतियों की गुलामी करे।

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

अपनी राय दीजिये ,26 जनवरी में कागज के तिरंगे पर प्रतिबंध लगाना चाहिए ताकी उसका अपमान न हो ?

User login