e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Tuesday, 7 December 2021 - 12:01am

REPORT BY
CHANDAN

रायपुर में टोटल लॉकडाउन के दौरान लोगों को पेट्रोल नहीं मिलेगा। इसी बात को लेकर बीते दो दिनों से लोग टेंशन में थे। अब कलेक्टर ने लॉकडाउन की गाइडलाइन में बड़ा बदलाव किया है। अब नए निर्देश के मुताबिक, इमरजेंसी की स्थिति में लोगों को पेट्रोल दिया जाएगा।

कलेक्टर एस भारती दासन ने इसे लेकर सोमवार को एक सर्कुलर जारी किया। इसमें लिखा है कि पेट्रोल पंप संचालक शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, अस्पताल मेडिकल इमरजेंसी से संबंधित निजी वाहन, एंबुलेंस, एलपीजी परिवहन कार्य के वाहन, एयरपोर्ट-रेलवे स्टेशन-अंतरराज्यीय बस स्टैंड से संचालित ऑटो, टैक्सी, एडमिट कार्ड दिखाने पर परीक्षार्थी उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडिया कर्मी, न्यूजपेपर के वाहन, छत्तीसगढ़ में राज्य से गुजर रहे वाहनों पेट्रोल दिया जाएगा, इनके अलावा किसी को पेट्रोल नहीं मिलेगा।

इस वजह से लिया गया फैसला
जिला प्रशासन ने पहले सिर्फ सरकारी गाड़ियों और एंबुलेंस को ही पेट्रोल देने के निर्देश जारी किए थे। इसके बाद लोगों की लंबी कतारें पेट्रोल पंप के बाहर लगना शुरू हो गईं। लोग एमरजेंसी के 7 दिनों का पेट्रोल भरवाने के लिए परेशान हो रहे थे। स्टूडेंट्स की परीक्षाएं भी हैं। ऐसे में लोगों को थोड़ी राहत देने का फैसला लिया गया। सोमवार को जारी सर्कुलर में कहा गया है कि दुग्ध पार्लर के सामने दूध बेचा जा सकेगा, न्यूज पेपर हॉकर सुबह पेपर बांट सकेंगे।

टेलीकॉम, रेलवे रखरखाव से जुड़े कार्यालय, वर्कशॉप, लोडिंग अनलोडिंग कार्य, एडमिशन के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज परीक्षा केंद्र और अस्पताल संचालित होंगे। किसी जरूरी वजह से रायपुर जिले से बाहर आने-जाने यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लेना अनिवार्य होगा।

प्रतियोगी परीक्षा या अन्य किसी एग्जाम के परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होने जा सकेंगे, उन्हें एडमिट कार्ड, इंजीनियरिंग कॉलेज के एडमिशन की दशा में उनका कॉल लेटर दिखाना अनिवार्य होगा। रेलवे, टेलीकॉम संचालक एवं रखरखाव कार्य हॉस्पिटल में चिकित्सकों द्वारा जारी आईडी कार्ड ई-पास के रूप में मान्य होगा।

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

कोरोना से बचने के लिए लोगों को मास्क लगाना जरूरी है कि नहीं

User login