e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Sunday, 7 March 2021 - 10:41pm

रायपुर । राजधानी रायपुर में रेल्वे स्टेशन  सफाई कर्मी को नही दी जा रही है  मूलभूत बुनियादी सुविधा अपने कमाए हुए  पैसे के लिए रेल स्टेशन ठेकेदार के  पास चक्कर काटने पर रहे है रायपुर रेल्वे स्टेशन अधिकारी के पास गुहार लगाने के वावजूद भी नही हो रही है करवाई 
  प्रेस वर्ता बताया गया की  विगत 4-5 वर्षों से लगभग 150 से ज्यादा सफाई कामगार ठेकेदार के अन्तर्गत कार्यरत है ।जिन्हें न्यूनतम मजदूरी का भुगतान 534/- रूप्ये के हिसाब से जो मिलना चाहिये वह नहीं मिल रहा है 350 के हिसाब से दिया जाता , इसमें भी कुछ महिना का  पेमेंट नही मिला है  साथ ही श्रम नियमों एवं मूलभूत बुनियादी सुविधाओं
के तहत मास्क. सुरक्षा बेल्ट, चिकित्सा, आवास, दुर्घटना बीमा, प्रतिवर्ष 2 जोडी
वर्दी और जूते, गमबूट्स, कार्यरत शिफ्ट में 1 घंटे का ब्रेक, बायोमेट्रिक मशीन,
ई.पी.एफ. और ई.एस.आई. की रसीद नहीं  दी जा रही है । इस संबंध में
रेल्वे के अधिकारियों को सुचना  की गई, लेकिन आज पर्यन्त
कोई कार्यवाही नहीं हुई उल्टे ठेकेदारों द्वारा लगभग 35 पुराने कामगारों को
नौकरी से निकाल दिया गया । इसलिये कामगारों द्वारा राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से
लेकर श्रम विभाग, रेल्वे एवं मानवाधिकार आयोग को भी निवेदन/शिकायत पत्र
दिया गया है. उसके बाद भी न ठेतेदार पर नही रेल्वे स्टेशन अधिकारी पर कोई करवाई नहीं हुई। जानकारी के मुताबिक रेल्वे स्टेशन के  ठेकेदारी सफाई कर्मी कल्याण संघ रायपुर
के अध्यक्ष, सचिव एव सभी पदाधिकारियों सदस्यों को भी इस बात री दी गई थी फिर भी आज तक हमारी मांग पूरी नही हुई है ।

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

अपनी राय दीजिये ,26 जनवरी में कागज के तिरंगे पर प्रतिबंध लगाना चाहिए ताकी उसका अपमान न हो ?

User login