e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Thursday, 21 October 2021 - 7:46am

अंबिकापुर। विधायक व सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष बृहस्पत सिंह के बयान पर आदिवासी समाज भड़क गया है। सर्व आदिवासी समाज सरगुजा ने विधायक से सार्वजनिक माफी की शर्त रखी है। समाज ने कहा है कि यदि विधायक ने माफी नहीं मांगी तो समाज के लोग उनके किसी भी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे।विधायक बृहस्पत सिंह के बयान पर सत्ताधारी कांग्रेस और विपक्षी भाजपा ने भी कड़ी आपत्ति दर्ज करा इसे आदिवासियों का अपमान करार दिया है।

बता दे कि स्वास्थ मंत्री टीएस सिंहदेव पर गंभीर आरोप लगाने के बाद सुर्खियों में आए विधायक बृहस्पत सिंह मंगलवार को राजधानी रायपुर से गृह क्षेत्र के लिए रवाना हुए थे। बिलासपुर में राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम के खिलाफ गंभीर आरोप लगाने के बाद अंबिकापुर पहुंचे विधायक बृहस्पत सिंह ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से चर्चा की थी। यहां पत्रकारों से चर्चा के दौरान पूछे गए सवालों से विधायक बिफर पड़े थे। इंटरनेट मीडिया पर विधायक बृहस्पत सिंह का वीडियो वायरल होते ही सत्ता और विपक्ष की ओर से उनकी जमकर किरकिरी होने लगी।

इन सबके बीच सर्व आदिवासी समाज सरगुजा के अध्यक्ष अनूप टोप्पो ने विधायक से आदिवासी समाज से सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की शर्त रख दी है। उन्होंने इंटरनेट मीडिया पर एक पोस्ट किया है जिसमें विधायक के बयान की सर्व आदिवासी समाज की ओर से निंदा करते हुए कहा गया है कि जिन आदिवासियों के वोट से बृहस्पति सिंह आज विधायक बने हैं उन्हीं आदिवासियों के खिलाफ विधायक का यह बयान निंदनीय है।

जब तक विधायक सार्वजनिक रूप से समाज से माफी नहीं मांग लेते तब तक आदिवासी समाज के लोग उनके किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे और उनका बहिष्कार किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव के खिलाफ आरोप लगाने के बाद पहली बार गृह क्षेत्र के लिए निकले विधायक बृहस्पति सिंह को अंबिकापुर से बलरामपुर की सीमा तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच भेजा गया था। विधायक के इस बयान के बाद भाजपा भी हमलावर हो गई है। भाजपा का कहना है कि विधायक का यह बयान वरिष्ठ नेताओं की सहमति वाला तो नहीं है?

अंबिकापुर में भी विधायक बृहस्पत सिंह ने राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए।राज्यसभा सदस्य द्वारा विधायक से मांग की गई थी कि यदि वे(विधायक बृहस्पत) माफी नहीं मांगते है तो उनके खिलाफ मानहानि का केस दायर करेंगे।विधायक बृहस्पत सिंह ने नेताम से माफी मांगने को लेकर पूछे गए सवाल के जबाब में कई गंभीर आरोप लगा दिए।उन सारे पुराने आरोपों को फिर से दोहराया जो नेताम पर लगा था।विधायक के बयान के बाद सरगुजा की राजनीति एक बार फिर गरमा गई है।

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

कोरोना से बचने के लिए लोगों को मास्क लगाना जरूरी है कि नहीं

User login