e-mail : abdulhamid97@gmail.com

Monday, 8 March 2021 - 12:40am

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें सीजन के लिए 18 फरवरी को खिलाड़ियों की नीलामी हुई है। 50 लाख के बेस प्राइस के साथ न्यूजीलैंड के बल्लेबाज डेवॉन कॉनवे अनसोल्ड रहे, जिन्होंने हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की टी20 इंटरनैशनल के पहले मैच में नॉटआउट 99 रनों की पारी खेली थी। कॉनवे के अनसोल्ड रहने को लेकर न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज साइमन डूल ने कहा है कि आईपीएल में ऑस्ट्रेलिया के दूसरे दर्जे के खिलाड़ियों के सामने उनके देश के क्रिकेटरों को हमेशा से नजरअंदाज कर दिया जाता रहा है।

दक्षिण अफ्रीका में जन्में कॉनवे की 59 गेंदों पर खेली गई 99 रन की धमाकेदार पारी से न्यूजीलैंड ने क्राइस्टचर्च में सोमवार को पहले टी20 इंटरनैशनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 53 रन से जीत दर्ज की, लेकिन डूल का मानना है कि न्यूजीलैंड के क्रिकेटरों का अच्छा प्रदर्शन भी मायने नहीं रखता। भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कॉनवे की तारीफ में लिखा था, 'डेवॉन कॉनवे केवल चार दिन की देरी हुई, लेकिन क्या शानदार पारी थी।' इस पर डूल ने ट्वीट किया, 'पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि यह मायने रखता है। आईपीएल में सालों से दूसरे दर्जे के ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के सामने न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को नजरअंदाज किया जाता रहा है। लगता है कि आईपीएल के बाहर केवल बिग बैश टूर्नामेंट ही ऐसी है, जिसके प्रदर्शन पर गौर किया जाता है।'

कॉनवे का बेस प्राइस 50 लाख रुपये था, लेकिन किसी भी टीम ने उनमें दिलचस्पी नहीं दिखाई जबकि वह अपनी नैशनल टीम और अन्य टी20 टूर्नामेंट्स में शानदार प्रदर्शन कर रहे थे। डूल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'इस बात पर आओ। मैंने किसी के नाम का जिक्र नहीं किया इसलिए ट्रोलिंग बंद करो। आईपीएल जब से शुरू हुआ तब से 94 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को 886 करोड़ रुपये में चुना गया जबकि न्यूजीलैंड के 31 खिलाड़ी ही चुने गए और उन पर 212 करोड़ रुपये खर्च किए गए।' उन्होंने कहा, 'दोनों देशों के छह फर्स्ट क्लास टीमें है और दोनों के घरेलू टी20 टूर्नामेंट्स हैं। यह बीबीएल (बिग बैश) के समय और उसे देखने से जुड़ा है।' कॉनवे को भले ही आईपीएल में कोई टीम ने मिली लेकिन उनके देश के काइल जैमीसन को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने 15 करोड़ रुपये और एडम मिल्ने को मुंबई इंडियन्स ने 3.2 करोड़ रुपये की मोटी धनराशि में खरीदा।

शेयर करे

Add new comment

जनता की राय

अपनी राय दीजिये ,26 जनवरी में कागज के तिरंगे पर प्रतिबंध लगाना चाहिए ताकी उसका अपमान न हो ?

User login